Bhavesh Bhatia Success story

Bhavesh Bhatia Success story: बहुत सारे लोगों को हर वक्त यही लगता है कि सबसे मुश्किल उनकी जिंदगी है। लेकिन दूसरों की मुश्किलों को देखने के बाद इस बात का एहसास होता है कि उनकी मुश्किलों के आगे हमारी मुश्किलें कुछ भी नहीं है। आज हम जानेंगे भावेश भाटिया के बारे में। इनके बारे में जानने के बाद आप अपनी मुश्किलों से आसानी से पार पा सकते हैं। भावेश भाटिया की कहानी सभी के लिए प्रेरणादाई कहानी हो सकती है।

यह भी देखे : Nita Ambani Lifestyle: 40 लाख की लिपस्टिक लगाती है नीता अंबानी महारानी जैसे है जिंदगी

Bhavesh Bhatia Success story परिचय –

भावेश भाटिया अपने जिंदगी में कई मुश्किलों का डटकर मुकाबला किये हैं। जब भावेश भाटिया मात्र 23 साल के थे तभी इनके आंखों की रोशनी छीन गई। इन्हें बचपन से ही कम दिखाई देता था, लेकिन 23 वर्ष की उम्र आते आते इनकी आंखों की रोशनी पूरी तरह से चली गई, क्योंकि उम्र बढ़ने के साथ इन्हें retina muscular deterioration नामक बीमारी हो गई थी। जिसकी वजह से बेहद कम उम्र में इनकी आंखों की रोशनी छीन गई। भावेश उस समय एक होटल मैनेजर (Bhavesh Bhatia Success story) के रूप में काम कर रहे थे।

सच ही कहा जाता है जब दुखो का पहाड़ टूटता है तो हर तरफ से दुखों का पहाड़ टूटता है। ऐसे में इंसान काफी परेशान हो जाता है। भावेश के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ। एक तरफ उनकी आंखों की रोशनी गई तो दूसरी तरफ उनकी नौकरी भी चली गई और इसी बीच उनकी मां को कैंसर की बीमारी भी हो गई। परिवार की स्थिति पूरी तरह से चरमरा चुकी थी। मां और भावेश दोनों के इलाज के लिए पैसे का अभाव था। हर तरफ भावेश को अपना सहारा खोता हुआ महसूस होने लगा।

घर में जितने भी पैसे थे मां के इलाज में खर्च हो गए, लेकिन इसके बावजूद उनकी मां को बचाया नहीं जा सका। भावेश अपनी मां के जाने से बेहद आहत हुए थे। भावेश बताते हैं कि उनकी मां हमेशा कहती थी “क्या हुआ जो तुम दुनिया नहीं देख सकते तुम कुछ ऐसा करो कि दुनिया तुम्हें देखें”। यह बात भावेश को हमेशा अंदर से प्रेरित करती थी। उन्होंने इस बात को अपने मन में बैठा लिया और खुद से नफरत करने के बजाय खुद को प्रेरित किया और अपनी जिंदगी में आगे बढ़ने (Bhavesh Bhatia Success story) का फैसला किया।

यह भी देखे : Vijay Shekhar Sharma success story : हिंदी मीडियम से पढ़ा लड़का खड़ा कर दिया है करोड़ों का साम्राज्य

भावेश ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया था कि उनको क्राफ्ट बनाना बेहद पसंद था। वह पतंग, मिट्टी के खिलौने आदि बनाते थे। इसी बीच उनके दिमाग में मोमबत्ती बनाने का आईडिया आया। वह मोमबत्ती का बिजनेस करने का फैसला करते हैं। मोमबत्ती का बिजनेस शुरू करने के पीछे कई कारण थे। पहला मोमबत्ती की आकृति और गंध को वह समझ सकते थे। दूसरा लाइट हमेशा भावेश को अपनी तरफ आकर्षित करती थी, भले ही वे अपनी आंखों से उसे नहीं देख सकते थे।

भावेश ने मोमबत्ती का बिजनेस (Bhavesh Bhatia Success story)।शुरू करने से पहले 1999 में मुंबई नेशनल एसोसिएशन फॉर द ब्लाइंड से मोमबत्ती बनाने की  ट्रेनिंग ली। यहां पर उन्हें सादी मोमबत्तियां बनाने की ट्रेनिंग दी गई। इसके बाद भावेश अलग-अलग तरह के आकार और रंगो तथा खुशबू के साथ मोमबत्तियां बनाने का एक्सपेरिमेंट शुरू कर देते हैं। लेकिन उस समय उनके पास पैसे का अभाव था।

वह रात भर मोमबत्तियां बनाते थे और अगले दिन महाबलेश्वर के स्थानीय बाजार में अपने दोस्त के एक ठेले पर मोमबत्तियां बेचने का काम (Bhavesh Bhatia Success story) करते थे। इस तरह से उन्हें हर रोज ₹50 ठेले का किराया चुकाना पड़ता था। अगले दिन का कच्चा माल जुटाने के लिए ₹25 वह बचा कर रखते थे। भावेश को अपना यह काम बेहद पसंद था। 

Bhavesh Bhatia with his Wife
Bhavesh Bhatia with his Wife

एक दिन की बात है उनके ठेले पर एक महिला आई, जिसका नाम नीता था। वह मोमबत्ती खरीदने के लिए आई थी, तब भावेश को उस महिला का व्यवहार और उसकी बात करने का अंदाज पसंद आया। कुछ ही घंटों के अंदर दोनों में अच्छी दोस्ती हो गई और धीरे-धीरे इनकी दोस्ती प्यार में बदल गई। इसके बाद दोनों ने शादी कर ली। नीता ने जब एक अंधे लड़के से शादी करने का जब फैसला किया तब परिवार वाले इसके खिलाफ थे। लेकिन नीता का फैसला अटल था। परिवार वाले अंत में मान गए।

शादी के बाद दोनों महाबलेश्वर में ही एक छोटा सा घर लेकर रहने लगे। नीता अब भावेश की मदद करने लगी थी। दोनों ने अपने इस बिजनेस से (Bhavesh Bhatia Success story) जल्द ही एक बाइक खरीद ली। शादी के बाद दोनों मोमबत्तियां को ले जाकर बाजार में बेचने लगे। बहुत ही जल्द नीता ने वैन चलाना सीख लिया, जिससे वह ज्यादा मोमबत्तियां बाजार ले जा सकती थी। धीरे-धीरे दोनों की जिंदगी खुशहाल होने लगी।

भावेश बताते हैं कि जब भी वह किसी की मदद के लिए जाते तो लोग यह कहते हुए उन्हें अनदेखा कर देते कि तुम अंधे हो तुम क्या कर सकते हो। भावेश पेशेवर मोमबत्ती निर्माताओं और अन्य संस्थानों से मार्गदर्शन प्राप्त करने के लिए कोशिश भी किये लेकिन कोई भी उनकी मदद के लिए तैयार नहीं होता था। जब उन्होंने Loan लेकर अपना बिजनेस आगे बढ़ाने का सोचा तब भी उन्हें असफलता ही मिली। शादी के बाद भावेश अपनी पत्नी के साथ माल में जाते और वहां मोमबत्तियां को छूकर उसके डिजाइन को महसूस करते थे। इस तरह उन्होंने मोमबत्तियां को डिजाइन देना (Bhavesh Bhatia Success story) शुरू किया।

भावेश की किस्मत कुछ और ही थी क्योंकि दृष्टि बाधित लोगों के लिए एक स्पेशल स्कीम आई थी, जिसके तहत भावेश को सातारा बैंक से ₹15000 का लोन मिल गया। इस पैसे से उन्होंने 15 किलो मोम और एक ठेला खरीद लिया। यहीं से उनकी जिंदगी बदल गई। वक्त के साथ मोमबत्ती का उनका छोटा सा बिजनेस करोड़ों के बिजनेस (Bhavesh Bhatia Success story) में बदल गया। आज कई बड़े कॉरपोरेट्स क्लाइंट उनकी कंपनी सनराइज कैंडल्स के ग्राहक है। आज उनकी कंपनी में 200 से भी ज्यादा दृष्टिहीन कर्मचारी काम कर रहे हैं।

Bhavesh Bhatia
Bhavesh Bhatia

 एंपावरमेंट आफ प्रसेंस विद डिसेबिलिटीज के लिए भावेश को नेशनल अवार्ड से भी सम्मानित किया गया है। भावेश की कंपनी आज 9000 से भी ज्यादा डिजाइन वाली मोमबत्तियां बनाती है। आज उनकी कंपनी में हर दिन 25 टन मोम का इस्तेमाल किया जाता है। अब भावेश अपनी कंपनी में मोमबत्तियां बनाने के लिए ब्रिटेन से मोम मंगाते हैं। आज इनके ग्राहकों में रिलायंस इंडस्ट्रीज, जैन टैक्सी, बिग बाजार, नरोदा इंडस्ट्रीज, रोटरी क्लब जैसे बड़े बड़े नाम शामिल हो गए हैं। सारा एडमिनिस्ट्रेशन का काम उनकी पत्नी संभालती है। काम के साथ-साथ भावेश स्पोर्ट्स का भी अनुभव रखते हैं। उन्हें अब तक पैराओलंपिक स्पोर्ट्स में कुल 109 पदक मिल चुके हैं।

अपनी पत्नी को देते हैं सफलता का श्रेय –

 भावेश अपनी सफलता (Bhavesh Bhatia Success story) का पूरा श्रेय अपनी पत्नी नीता को देते हैं। वह कहते हैं बहुत कम लोग ऐसे होते हैं जो किसी शारीरिक या मानसिक विकार से ग्रस्त लोगों का साथ देते हैं। आज उनकी पत्नी नीता एक दृष्टिहीन व्यक्ति का साथ देकर समाज के सामने एक उदाहरण पेश किया है। इससे दूसरे लोगों को भी हौसला और हिम्मत मिल रही है।

यह भी देखे : Hollywood Action Actors: हॉलीवुड की एक्शन एक्टर ने साबित कर दिया कि एक्शन सिंह के लिए बाधा नहीं

Latest

News

Brahmastra Worldwide Box Office Collection Day 16

Brahmastra Worldwide Box Office Collection Day 16- Ayan Mukerji’s film Brahmastra has been in the

OTT rights price of Shahrukh Khan's film Jawan-

OTT rights price of Shahrukh Khan’s film Jawan- Shahrukh Khan, the famous film actor of

R madhavan’s Rocketry will Be Stream On Colors cineplex Check Dates And More

R madhavan’s Rocketry will Be Stream On Colors cineplex Check Dates And More- R Madhavan’s

Brahmastra Worldwide Box Office Collection Day 16

Brahmastra Worldwide Box Office Collection Day 16- Ayan Mukerji’s film Brahmastra has been in the

OTT rights price of Shahrukh Khan's film Jawan-

OTT rights price of Shahrukh Khan’s film Jawan- Shahrukh Khan, the famous film actor of

You May Like

Brahmastra Worldwide Box Office Collection Day 16

Brahmastra Worldwide Box Office Collection Day 16- Ayan Mukerji’s film Brahmastra has been in the

OTT rights price of Shahrukh Khan's film Jawan-

OTT rights price of Shahrukh Khan’s film Jawan- Shahrukh Khan, the famous film actor of

Brahmastra Worldwide Box Office Collection Day 16

Brahmastra Worldwide Box Office Collection Day 16- Ayan Mukerji’s film Brahmastra has been in the

OTT rights price of Shahrukh Khan's film Jawan-

OTT rights price of Shahrukh Khan’s film Jawan- Shahrukh Khan, the famous film actor of